कोरोना से डरे ग्रामीणों ने गांव के बाहर बोर्ड लगाकर गांव में घुसने पर जान से मारने की धमकी दी

तीन दिन पूर्व गोंगला पंचायत के एक गर्भवती महिला को कोरोना पॉजिटिव निकला जो गंगालूर राहत शिविर में रह रही थी जिसके कारण गांव वाले डरे हुए है 

0
192

बीजापुर :    छत्तीसगढ़ में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है, रोजाना प्रदेश के अलग-अलग जिलों से दर्जनों नए मामले सामने आ रहे हैं। नक्सल प्रभावित गांव के ग्रामीण कोरोना से डरे हुए हैं। मामला बीजापुर जिले के माड ऐरिया, नेशनल पार्क और पामेड थाना क्षेत्र के सुदूर अंचल के गांव का है। जहां नक्सलीयों द्वारा बिना अनुमति प्रवेष निषेध के बोर्ड देखने को मिलता ही है, लेकिन अब कोरोना काल के दौरान वनांचल के ग्रामीण भी अब यही हथकण्डा अपनाते हुए जान से मारने की धमकी तक लिख रहे हैं। दरअसल तीन दिन पूर्व गोंगला पंचायत के एक गर्भवती महिला को कोरोना पॉजिटिव निकला जो गंगालूर राहत शिविर में रह रही थी। अब गोंगला के ग्रामीण अपने गांव में दुसरे व्यक्तियों पर प्रवेश का विरोध करते हुए पेड पर कारोना वायरस के कारण गंगालूर के व्यक्ति कोई भी गोंगला नहीं आने का आने से मार के फेकने की बात लिख डाली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here