जन्माष्टमी पर बन रहा यह खास योग, जानिए कौन सी 5 राशियों पे होगा लाभ, और कैसे करेंगे कान्हा जी को प्रसन्न

0
241

इस साल जन्माष्टमी का त्योहार 11-12 अगस्त को मनाया जाएगा। 12 अगस्त को कृतिका नक्षत्र लगेगा। जबकि चंद्रमा मेष और सूर्य राशि में संचार करेंगे। कृतिका नक्षत्र और राशियों की स्थिति के कारण वृद्धि योग बन रहा है। ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, जन्माष्टमी पर बन रहा वृद्धि योग कई राशियों के लिए लाभकारी साबित होगा। मान्यता है कि वृद्धि योग में पूजा करने से फल दोगुना प्राप्त होता है। कहते हैं कि वृद्धि योग में किए गए कार्यों में सफलता हासिल होती है।

1. मेष राशि

जन्माष्टमी पर बन रहे वृद्धि योग से मेष राशि के जातकों की आर्थिक स्थिति मजबूत होने के साथ ही धन-संपदा का लाभ होगा। व्यापार में तरक्की मिलने की संभावना है।

2. मिथुन राशि

मिथुन राशि के जातकों को वृद्धि योग से लाभ होने का योग बन रहा है। इसके साथ ही इस राशि के जातकों के व्यापार और नौकरी में आ रही बाधाएं भी दूर होंगी। धन का संचय होगा।

3. धनु राशि

इस राशि के जातकों को करियर में लाभ होगा। व्यापार में लाभ के प्रबल योग बन रहे हैं। कहीं से कोई शुभ समाचार भी प्राप्त हो सकता है।

.4. मीन राशि

इस राशि के जातकों को जन्माष्टमी पर बन रहे वृद्धि योग का जबरदस्त लाभ मिलेगा। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, इस राशि के जातकों को लाभ हो सकता है। करियर में भी तरक्की मिलने के योग हैं।
5. सिंह राशि

इस राशि के जातकों के भाग्य में धन लाभ के योग बन रहे हैं। इस राशि के जातकों को कर्ज में दिया धन वापस मिल सकता है। संतान पक्ष से भी सुख प्राप्त हो सकता है।

पूजा में शामिल करें पान

जन्माष्टमी के दिन श्रीकृष्ण की पूजा में पान का विशेश महत्व होता है। मान्यता है कि पूजा में पान का पत्ता शामिल करने मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं। ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, पूजा के दौरान एक ताजा पान का पत्ता लें और उसमें ‘ऊं वासुदेवाय नमः’ लिखकर श्रीकृष्ण को अर्पित कर दें। माना जाता है कि ऐसा करने से पूजा फलदायी होती है।
तुलसी पूजा

जन्माष्टमी के दिन तुलसी पूजा का विशेष महत्व है। शास्त्रों में बताया गया है कि तुलसी भगवान कृष्ण को प्रिय हैं। ऐसे में इस दिन तुलसी पूजन शुभ माना जाता है। कहते हैं कि शाम के समय तुलसी के सामने घी का दीपक जलाना चाहिए और 11 बार परिक्रमा लगाने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं।

ये काम न करें
अगर आपके घर में तुलसी का पौधा नहीं है, तो किसी मंदिर में जाकर दीपक जला सकते हैं। लेकिन किसी दूसरे के घर में तुलसी पूजा करने न जाएं। कहते हैं कि ऐसे में पूजा का फल नहीं मिलता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here