लगातार डेढ़ माह तक गांव में धरना पर बैठा संतोष वर्मा, जाने इसके पीछे का कारण।

0
71

लगातार डेढ़ माह तक गांव में धरना पर  बैठा रहा लोग कहते थे पागल है। चलो पागल ही सही वही शब्द मेरे लिए आशीर्वाद बनकर सुई की नोक की बराबर सफलता हासिल की है। यह जीत आप लोगों की जीत है जिन्होंने मेरे प्रयास को आप सभी प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप से दुआएं दी वहीं आज मेरे लिए दवा का काम कर दिया आगे आप लोगों की दुआओं की और जरुरत है।आप लोगों को बड़ी सफलता प्राप्त करनी है। यह तो सिर्फ मेरा हौसला और प्रयास था बाकी दुआएं तो आप लोगों की थी कर्तातो पूरा वही एक ईश्वर अंश है हम तो मात्र साधन मात्र हैं यह सुई की नोक के बराबर सफलता आगे बड़ी जीत का संदेश है इसे छोटा मत समझो मीडिया के माध्यम से आप लोगों को सब पता चल जाता होगा इस जीत काभी आप लोगों को मिडियासमाचार पत्र के माध्यम से पता चल जाएगा दुर्योधन ने कहा थाएक सुई की नोक के बराबर जमीन नहीं दूंगा आखिर महाभारत युद्ध हुआ और दुर्योधन असत्यकी हार हुई और पांडव सत्य की जीतहुईइस जीतकामैं साथ में मीडिया वाले हरिभूमि जे सी टीन्यूज़ एनटी न्यूज जस्ट ३६ ए पी न्युज जन आवाज साइंस वाणी सत्य खबर आदिसभीमिडिया वाले भाई को धन्यवाद जिन्होंने टीवी यूट्यूब समाचार पत्र के माध्यम से मेरी सारीखबर दिल्ली से लेकर मूरातक पहुंचाने का काम किया आगे और आप लोगों से सहयोग की आशा रखता हूं और ग्राम वासियों से दुआओं की आशा रखता हूं आप लोगों की विजय निश्चित होगी सत्य परेशान जरूर होता है किंतु पराजित नहीं होता है मुझे विश्वास है कि आप लोगों की दुआओं से जल्दी मेरी मातृभुमि गांव मुरा आऊंगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here