क्वॉरेंटाइन सेंटर से 27 मजदूर तालाब पर नहाने गए इसमें 17 पॉजिटिव

क्वॉरेंटाइन सेंटर से मजदूर आखिर तालाब में नहाने गए कैसे? ये किसकी लापरवाही है? कोन लेगा इसकी ज़िम्मेदारी ? यदि ऐसा ही होता रहा तो कम्युनिटी संक्रमण होने में देर नहीं लगेगी, अधिकारीयों को ये समझना ज़रूरी है

0
129

जांजगीर-चांपा के नवागढ़ में ग्राम खोखसा के क्वारैंटाइन सेंटर में मना करने के बावजूद तालाब में नहाने जाने और अभद्रता करने वाले 34 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। ये 25 मई को दिल्ली, जयपुर, आगरा और नोएडा से लौटे 70 प्रवासी श्रमिकों में शामिल हैं। 27 मई को मना करने के बाद भी 27 श्रमिक नहाने के लिए बेलडबरी तालाब चले गए। लौटने पर तहसीलदार व पुलिस को देख पंचायत सचिव, सरपंच और पंचों को गाली दी।

खोखसा क्वारैंटाइन सेंटर में रह रहे 18 लोगों को कोरोना पीड़ित पाया गया है।  वहां रह रहे 12 लोगों के 1 जून को सैंपल रिपोर्ट आने पर एक मजदूर संक्रमित मिला था। इसके बद 60 और श्रमिकों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए। 2 जून को 2, 4 जून को 7 और 5 जून को 8 श्रमिकों के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। इन सभी को बिलासपुर और दुर्ग के विशेष कोविड-19 अस्पतालों में इलाज के लिए भर्ती किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here