पटवारी की आईडी हैक कर ठग ने ऐसे बेच दी सरकारी जमीन

0
100
कोरबा। भुइयां सॉफ्टवेयर में पटवारी की आइडी हैक कर सरकारी जमीन की बिक्री और नामांतरण कर देने का सिलसिला कोरबा जिले में थम नहीं रहा। जुलाई माह के दूसरे सप्ताह में दर्ज चार अलग-अलग इस तरह के मामलों की जांच अभी चल ही रही है कि वनांचल ग्राम जिल्गा की शासकीय पट्टा की जमीन को फर्जी चौहद्दी तैयार कर बेचने और पटवारी की आइडी हैक कर नामांतरण कर देने का पांचवा मामला सामने आ गया। इसे लेकर प्रशासन की चिंता बढ़ गई है।
श्यांग थाना में कोरबा तहसील के पटवारी हल्का नंबर 47 के पटवारी भूपेंद्र सिंह मरकाम एवं 48 के पटवारी मंजीत लकरा की रिपोर्ट पर कुल 29.34 एकड़ सरकारी जमीन बेचने वाले मंगल सिंह यादव, जगन्नाथ यादव, रवि कुमार एवं रामलाल धोबी के विरुद्ध प्रकरण दर्ज है। पटवारी की आइडी हैक कर इस फर्जीवाड़ा को किस तरह अंजाम दिया गया, इसकी जांच कलेक्टर की ओर से एसडीएम व एनआइसी अधिकारी के नेतृत्व में कराई जा रही है। अभी यह जांच जारी ही है कि एक और मामला सामने आ गया।
नए मामले में श्यांग थाना अंतर्गत ग्राम जिल्गा पटवारी हल्का नंबर-51 में विनोद कंवर पटवारी है। हल्का की शासकीय पट्टा की जमीन खसरा क्रमांक 717/1, रकबा 1.214 हेक्टेयर को जिल्गा निवासी बालकराम पिता पीलूराम (61) ने फर्जी चौहद्दी तैयार कर कोसाबाड़ी निवासी अंकित थवाईत पिता स्व. यतेंद्र थवाइत (29) निवासी थवाईत नर्सिंग होम कोसाबाड़ी के नाम से तीन मार्च 2020 को विक्रय कर दिया। पटवारी ने इसकी जानकारी 11 मार्च को नायब तहसीलदार भैसमा को दी। विभागीय तौर पर छानबीन की जा रही थी कि भुइयां के पटवारी लॉगइन आइडी से छेड़छाड़ कर 28 मार्च को क्रेता अंकित थवाईत के नाम पर ऑनलाइन अभिलेख दुरुस्त कर दिया गया।
इसकी सूचना पांच अप्रैल को पटवारी ने पुनः नायब तहसीलदार को दी और तहसीलदार के मौखिक आदेश पर उस खसरा नंबर की जमीन को अभिलेख में दुरुस्त करने के साथ ही फर्जीवाड़ा की शिकायत श्यांग थाना में की गई। पटवारी विनोद कुमार कंवर की रिपोर्ट पर आरोपी बालक राम के विरुद्ध धारा 467, 468, 471, 420, 34 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here