खेल खेल में जिंदा सांप को निगल गया 1 साल का बच्चा, मां ने देखी, मुंह में पूछ और फिर….

0
227

छोटे बच्चे इतने मासूम होते हैं कि उन्हें किसी चीज से कोई फर्क नहीं पड़ा कि वो उनकी जान के लिए खतरनाक भी हो सकती है. छोटे से एक बच्चे की एक ऐसी ही खबर उत्तर प्रदेश के बरेली से सामने आई है. जहां एक साल का एक बच्चा खेल-खेल में जिंदा सांप को निगल गया. इस बात का पता चब चला जब बच्चे की मां ने उसके मुंह में सांप की पूंछ देखी. बच्चे की मुंह में सांप की पूंछ देखकर मां के होश उड़ गए. लेकिन मां ने हिम्मत दिखाई और सांप की पूंछ पकड़कर सांप को बाहर खींच लिया. उसके बाद परिजन बच्चे को लेकर अस्पताल पहुंचे जहां उसे भर्ती कराया गया है.

मामला, बरेली जिला के फतेहगंज पश्चिमी के गांव भोलापुर का है. गांव के रहने वाले धर्मपाल ने बताया कि उनका एक साल बेटा देवेन्द्र शनिवार सुबह घर पर खेल रहा था.

उसकी मां सोमवती घर के कामों में व्यस्त थी. धर्मपाल खुद अपने काम पर जाने की तैयारी कर रहे थे. उसी दौरान खेल रहे बच्चे के पास अचानक सांप का एक बच्चा आ गया. देवेन्द्र ने नादानी में उसे उठा लिया और खेलने लगा. इसके बाद उसने सांप के बच्चे को मुंह में रख कर निगलना शुरू कर दिया और सांप धीरे धीरे अंदर जाने लगा.
धर्मपाल ने बताया कि सोमवती ने ध्यान दिया कि देवेन्द्र काफी समय से कुछ खा रहा है और लगातार अपना मुंह चला रहा है.

सोमवती उसके पास गई तो देवेंद्र के मुंह में सांप की पूंछ दिखी. सोमवती ने तुरंत सांप की पूंछ पकड़कर उसे बाहर खींच लिया. इसके बाद सांप और देवेन्द्र को लेकर परिजन जिला अस्पताल पहुंच गये. वहां पर मौजूद ईएमओ डॉक्टर हरिश चन्द्रा ने देवेन्द्र को भर्ती कर लिया. उसकी हालत खतरे से बाहर होने पर उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी गई.

बता दें कि बच्चे के मुंह से निकाले गये सांप के बच्चे की लंबाई सात इंच थी. उसका फन भी निकलना शुरू हो गया था. बच्चे ने उसे मुंह में रखकर चबाने की कोशिश की थी. बच्चे के मुंह में दम घुटने से सांप की मौत हो गई. डॉक्टर्स का कहना है कि सांत इंच लंबा सांप होने के कारण बच्चे की जान पर भी खतरा था. यदि सांप को बाहर नहीं निकाला जाता तो शायद बच्चे का भी दम घुट सकता था और उसकी जान जा सकती थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here