जनधन खाते को रखे अपडेट मिलेंगे 5000 ओवरड्राफ्ट और 2.30 लाख बीमा सहित ये फायदे

0
99

यदि आप एक जनधन खाताधारक हैं तो ये खबर आपके बहुत काम की है। जनधन खाताखारकों का आगामी 31 मार्च से पहले एक अहम काम निपटाना बहुत जरूरी है। अगर ऐसा न हुआ तो आपको भारी नुकसान का सामना करना पड़ेगा। सभी जनधन खाताधारकों को 31 मार्च तक अपने खातों को आधार से लिंक कराना जरूरी है। इस मामले में सरकार ने बैंकों को निर्दश भी जारी किए हैं। अगर आपने 31 मार्च तक अपना खाता आधार से लिंक नहीं कराया तो आपको कई सारी सुविधाएं नहीं मिलेंगी। जिसमे Jandhan खाते को आधार से लिंक कराने पर मिल रही 5000 रु, का ओवरड्राफ्ट की सुविधा भी शामिल है

पैन नंबर पर भी लिंक कराना जरूरी

इतना ही नहीं जिन मामलों में पैन जरूरी है, वहां आधार के साथ-साथ पैन का लिंक होना भी जरूरी है। यदि आप जनधन खाताधारक हैं तो फटाफट खाते को आधार से लिंक कराएं। आइए जानते हैं ऐसा न करने पर आपको क्या नुकसान होगा।

नहीं मिलेंगे 2.30 लाख रु

दरअसल सरकार जनधन खाताधारकों को फ्री में 2.30 लाख रु का इंश्योरेंस देती है। इसमें 2 लाख रु का एक्सीडेंट कवर और 30000 रु का बीमा कवर होता है, जो खाताधारक की मृत्यु होने पर ये पैसा नॉमिनी को मिलता है। मगर ये बेनेफिट तभी मिलेगा, जब आपका जनधन खाता आधार से लिंक हो। इसलिए ये फायदा लेने के लिए 31 मार्च तक अपने खाते को आधार से लिंक करा लें।

घर बैठे करें आधार लिंक

आप बैंक ब्रांच में जाकर खाते से आधार को लिंक करा सकते हैं। मगर यदि आप समय बचाना चाहें तो आप ये काम घर बैठे भी कर सकते हैं। सबसे पहले नेट बैंकिंग लॉग इन करें और फिर आधार नंबर को लिंक करने के ऑप्शन पर जाएं। इसके अलावा अब बैंक एसएमएस के जरिए भी जनधन खाते और आधार को लिंक कराने की सुविधा दे रहे हैं।

एटीएम से करें आधार लिंक

आप एटीएम से भी जनधन खाते और आधार को लिंक करा सकते हैं। अपने एटीएम कार्ड और आधार नंबर के साथ करीबी एटीएम पर जाएं। अपना कार्ड स्वाइप करें और फिर पिन डालें। स्क्रीन पर प्रदर्शित विकल्पों में से, “सेवा” चुनें। “लिंक आधार” विकल्प पर क्लिक करें। अगला चरण अपना आधार नंबर दर्ज करना है और गलती से बचने के लिए उसी को फिर से दर्ज करना होगा। लिंकिंग को पूरा करने के लिए “सबमिट” बटन पर क्लिक करें।

जनधन योजना की ऑफिशियल वेबसाइट से करें आधार लिंक

जनधन योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं। अपने अकाउंट में एंटर करने के लिए अपनी यूजर आईडी और पासवर्ड दर्ज करें। मैन पेज पर आप “बैंक अकाउंट के साथ आधार लिंक” विकल्प खोज सकते हैं। इस ऑप्शन पर क्लिक करें। यहां से आप एक नये पेज पर जाएंगे। यहां अपना आधार नंबर दर्ज करें और “सबमिट” बटन पर क्लिक करें। उस बैंक का चयन करें जिसे आप आधार नंबर से लिंक करना चाहते हैं और “सबमिट” बटन दबाएं। ऐसा करने पर आपको आधार रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी प्राप्त होगा। ओटीपी दर्ज करें और “सबमिट” बटन पर क्लिक करें। इन चरणों को पूरा करने के बाद आपके आधार को जनधन बैंक खाते से लिंक करने का प्रोसेस शुरू होगा और प्रोसेस पूरी होने में 4-5 कार्य दिवस लगेंगे।

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (PMJJBY)

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना एक तरीके का टर्म इंश्योरेंस प्लान है. इस योजना में आपको साल में एक बार प्रीमियम जमा करना होता है और उसके बाद आप 2 लाख रुपये का बीमा मिलता है. इसका मतलब है कि दुर्भाग्यवश बीमा धारक की मृत्यु हो जाती है तो उनके घर वालों को क्लेम के रुप में पैसे मिलते हैं. इस बीमा योजना में सामान्य मौत पर भी पैसे दिए जाते हैं.

इस योजना का प्रीमियम सड़क बीमा योजना से काफी ज्यादा है. इस य़ोजना का लाभार्थी बनने के लिए आपको 330 रुपये सलाना भुगतान करना होगा. इसके अलावा इस योजना के लिए किसी भी मेडिकल जांच की जरुरत नहीं होती है. इसमें 18 साल से 50 साल तक के लोग फायदा उठा सकते हैं. इसमें अश्योर्ड अमाउंट 2 लाख रुपये है, यानी बीमा धारक को कुछ हो जाता है तो 2 लाख रुपये परिजनों को मिलता है.

क्या है सड़क बीमा योजना?

सड़क बीमा योजना का फायदा के लाभार्थी बनने के लिए सिर्फ 12 रुपये का भुगतान करना होगा. इसके बाद हर साल आपके खाते से 12 रुपये कट जाएंगे. इस योजना में सिर्फ दुर्घटना की स्थिति में ही बीमा का फायदा उठा सकते हैं. इसके अलावा अधिकतर शर्ते प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना की है. इसमें भी बीमा धारक के साथ अनहोनी होने पर परिवार जनों को 2 लाख रुपये मिलते हैं. आप ये दोनों योजना अपने बैंक से करवा सकते हैं, लेकिन इसके लिए बैंक में खाता होना जरूरी है.

पीएमएसबीवाई के मामले में 70 साल की उम्र तक व्‍यक्ति बीमित रहता है. वहीं, जीवन ज्‍योति बीमा योजना में 55 साल तक यह कवर मिलता है. साथ ही प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना में कोई वेटिंग पीरियड नहीं है. वहीं, प्रधानमंत्री जीवन ज्‍योति बीमा योजना में एक्‍सीडेंट में मौत होने पर तो कोई वेटिंग पीरियड नहीं है. लेकिन, प्राकृतिक मौत के लिए 45 दिन का वेटिंग पीरियड लागू है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here