गोपालगंज: बाढ़ का पानी उतरते ही मिली दो भाइयों की लाश, मंजर देखकर हर कोई रह गया हैरान..

0
143

गोपालगंज। बिहार में इस वक्त समस्याओं की बाढ़ नजर आ रही है। कोरोना के साथ-साथ बाढ़ लोगों के लिए जानलेवा साबित हो रही है। बाढ़ से करीब 4 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। वहीं करीब एक लाख परिवार बाढ़ से विस्थापित हुए हैं। बाढ़ की तबाही का सबसे खौफनाक मंजर बैकुंठपुर थाना क्षेत्र के चिउतहा में देखने को मिल रहा है, जहां पक्की सड़कें बाढ़ में बुरी तरह ध्वस्त हो गयी हैं।

यहां बिजली के पोल और विशाल पेड़ धराशायी हो गए हैं। तबाही का मंजर देखकर किसी के रोंगटे खड़े हो जायेंगे। बाढ़ की तबाही झेल रहे चिउतहा गांव में राशन लेने जा रहे दो भाइयों की नाव हादसे में मौत हो गयी थी। उनका शव भी तीन दिन बाद बरामद किया गया।

बताया जा रहा है कि चिउतहा गांव के 35 वर्षीय दिनेश प्रसाद और उनके 40 वर्षीय भाई सुरेंद्र कुमार अपने घर से छोटी नाव से राशन खरीदने के लिए भगवानपुर बाजार जा रहे थे। इसी दौरान बाढ़ की तेज धारा में उनकी नाव फंस गयी और हादसे के शिकार हो गए। घटना के बाद ही दोनों भाई बाढ़ की पानी में लापता हो गए, जिनकी तीन दिनों तक तलाश की गयी।

शुक्रवार की देर शाम दोनों भाइयों का शव गांव के तालाब से बरामद किया गया। बाढ़ का पानी कम होने के बाद उनके शव की तलाश की गयी। दोनों भाइयों के शव मिलते ही पूरे गांव में मातम पसर गया। लोगों की भीड़ मौके पर उमड़ पड़ी। बाद में शव मिलने की सूचना पाकर सदर एसडीएम उपेन्द्र कुमार पाल, स्थानीय भाजपा विधायक मिथिलेश तिवारी सहित बैकुंठपुर बीडीओ पहुंचे और मृतक के परिजन को चार चार लाख रूपये मुआवजा देने की घोषणा की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here