Drugs case में धर्मा प्रोडक्शन का पूर्व अधिकारी क्षितिज प्रसाद गिरफ्तार , करण जौहर ने बनाई दूरी

0
143

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने शनिवार को बॉलीवुड प्रोड्यूसर करन जौहर की कंपनी धर्मा प्रोडक्शन के पूर्व अधिकारी क्षितिज रवि प्रसाद को गिरफ्तार कर लिया है. एनसीबी ने पहले एक सह-आरोपी से पूछताछ की थी, जिसने क्षितिज का नाम लिया था. एनसीबी ने जिसके बाद उससे पूछताछ की और गिरफ्तार कर लिया. रिपोर्ट्स के अनुसार बताया जा रहा है कि इस मामले में नाम आने के बाद करण जौहर ने क्षितिज से दूरियां बना ली थी.

एनसीबी के दक्षिण-पश्चिमी क्षेत्र के उप महानिदेशक एमए जैन ने मीडिया को बताया, “हमने क्षितिज को गिरफ्तार कर लिया है. उसे रविवार को विशेष एनडीपीएस अदालत के समक्ष पेश किया जाएगा.

विस्तृत जानकारी कोर्ट के समक्ष रखी जाएगी.”

जैन ने कहा कि इस मामले में किसी अन्य फिल्मी हस्ती को ताजा समन नहीं भेजा गया है. इससे पहले एनसीबी ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ड्रग कनेक्शन को लेकर बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण और उनकी पूर्व मैनेजर करिश्मा प्रकाश से पांच घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की.

एनसीबी के सूत्रों के अनुसार, साल 2017 के अक्टूबर में कथित ड्रग चैट को लेकर पूछे गए जवाब में दोनों के जवाब अस्पष्ट थे. कोलाबा क्षेत्र में एनसीबी के गेस्टहाउस में सुबह 10 बजे से पहले पहुंची दीपिका दोपहर करीब 3.30 बजे रवाना हुईं.

यहां तक कि दूसरी बार शनिवार को सुबह 10.45 बजे पूछताछ के लिए उपस्थित हुईं करिश्मा भी लगभग 3.30 बजे दोपहर में रवाना हुई. एनसीबी बॉलीवुड अभिनेत्री सारा अली खान और श्रद्धा कपूर से यहां के बल्लार्ड पियर क्षेत्र में अपने कार्यालय में पूछताछ कर रही है. उनकी पूछताछ जारी है

एनसीबी को दीपिका और करिश्मा के चैट से अक्टूबर 2017 का विवरण मिला है, जिसमें दोनों ड्रग पर चर्चा कर रहे थे और क्लब कोको में मिलने की योजना बनाई थी. दीपिका और करिश्मा को एनसीबी ने ड्रग से जुड़े मामले में नाम आने के बाद समन जारी किया था.

दीपिका को बुधवार को उस समय तलब किया गया जब वह एक फिल्म की शूटिंग के लिए गोवा में थीं. वह गुरुवार को मुंबई पहुंची और शुक्रवार को एजेंसी के सामने पेश होने वाली थीं. लेकिन दीपिका की कानूनी टीम के अनुरोध पर एनसीबी ने पूछताछ शनिवार के लिए स्थगित कर दिया.

एनसीबी ने शुक्रवार को अभिनेत्री रकुलप्रीत सिंह और करिश्मा का बयान दर्ज किया था. एनसीबी ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा सुशांत की मौत मामले में मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किए जाने के बाद मामला दर्ज किया और उसके बाद रिया, उनके भाई शोविक और सुशांत के घर के मैनेजर सैमुएल मिरांडा के फोन पर ड्रग्स की कथित चैट पाई गई.

ईडी ने तब ड्रग के मामले की जांच के लिए एनसीबी को पत्र लिखा था. मामला दर्ज करने के बाद एनसीबी ने कई लोगों से पूछताछ की और रिया, शोविक, मिरांडा, सुशांत के निजी कर्मचारी दीपेश सावंत को गिरफ्तार करने के साथ 16 अन्य लोगों से पूछताछ की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here